शामली (जेएनएन)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के साथ आज यहां पर कैराना लोकसभा उप चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी मृगांका सिंह के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित किया। किसान इंटर कालेज शामली में जनसभा में योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के विकास पर प्रकाश डालने के साथ ही सूबे की कानून-व्यवस्था पर सरकार की सफलता को मुख्यधारा में रखा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी के गन्ना और जिन्ना वाले बयान पर पलटवार किया। उन्होंने कहा कि गन्ना किसानों के लिए हम काम करेंगे, गन्ना हमारा मुद्दा है, लेकिन हम जिन्ना की फोटो भी नहीं लगने देंगे। जयंत चौधरी ने भाजपा पर हमला करते हुए कैराना उपचुनाव को लेकर कहा था कि यहां जिन्ना मुद्दा नहीं, गन्ना मुद्दा है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम कभी ऐसी स्थिति पैदा नहीं होने देंगे, जिससे दंगाई तत्व जागें और समाज को बांटने का काम करें। गन्ना किसानों के लिए हम काम करेंगे, गन्ना हमारा मुद्दा है, लेकिन हम जिन्ना की फोटो भी नहीं लगने देंगे।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी सरकार समस्या नहीं बल्कि समस्या के समाधान का नाम है। भाजपा सरकार में बिना भेदभाव के लोगों के मुद्दे को आगे बढ़ाया जाता है। प्रदेश के सभी नौजवान, किसान, बहू-बेटियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी सरकार की है। उन्होंने कहा कि पहले संगठित अपराधी कारोबारियों से वसूली करते थे, लेकिन एक वर्ष में हमने इन सबको उनकी सही जगह पहुंचा दिया है। हमारी सरकार सबको सुरक्षा देगी, लेकिन इस मामले में तुष्टीकरण की राजनीति नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि जो लोग भारत की उन्नति नहीं चाहते, जो लोग विकास विरोधी हैं, वह सभी लोग मोदी जी को रोकने के लिए एक साथ आ गए हैं। पीएम नरेंद्र मोदी जी ने देश के सवा करोड़ लोगों की सुरक्षा और विकास के लिए काम किया है। आज सभी का आशीर्वाद पीएम मोदी के साथ है।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार ने डार्क जोन के नाम पर यहां के किसानों का शोषण किया। हमारी सरकार किसी को यहां के किसानों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं करने देगी। एक-एक गन्ना किसान का पूरा भुगतान होगा। अगर कोई किसान का शोषण करता है तो उसे हम छोड़ेंगे नहीं। उन्होंने कहा कि पहले धान और गेहूं का समर्थन मूल्य नहीं मिल पाता था, लेकिन हमारी सरकार किसानों को बेहतर समर्थन मूल्य दे रही है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जो समाज के लिए खतरा बनेंगे, पुलिस उनके लिए खतरा बन जाएगी। आप याद करो 15 महीने पहले यहां दहशत थी, अराजकता थी, बड़े अपराधी व्यापरियों से गुंडा टैक्स वसूल करते थे। हमने अपराधी को जहां पहुचना था पहुचाया, जो भी हमारी बहनों के लिये खतरा बनेगा, हमारी पुलिस उसके लिये खतरा बनेगी। यहां के सांसद रहे स्वर्गीय हुकुम सिंह ने पलायन का मुददा सड़क से संसद तक उठाया। उन्होंने कहा कि सूबे के प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा प्रदान करना हमारा दायित्व है। अभी भी प्रदेश में अधिवक्ताओं और आंबनबाड़ी की समस्याएं पिछली सरकार की देन है। हमारी सरकार समस्याओं का समाधान करती है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी सरकार आपके मुददों को बिना भेदभाव आगे बढ़ा रही है।

उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने मुजफफरनगर को दंगे में झोंका। हमारी सरकार ऐसा नहीं होने देगी। अब यूपी में अन्याय नहीं होगा, दंगाइयों को सिर उठाने का मौका नहीं देंगे। बिना भेदभाव भर्तियों होंगी। हमने किसानों के लिए रॉयल्टी फ्री की है। हमारी सरकार ने कोल्हू लगाने में छूट दी। हमने प्रयास कर प्रदेश से पलायन को रोका, लोगों को प्रदेश के अंदर काम देने का प्रयास कर रहे हैं। प्रजापति समाज को उचित सम्मान दिया जाएगा। प्रदेश के गन्ना किसानों को समय पर भुगतान कराया। जब किसानो का शोषण हो रहा था, तब सपा कहां थी। इसमें कश्यप समाज को इसके लिए आगे बढ़ाया।

प्रदेश सरकार ने कैराना व कांधला से पलायन रोका। लोग वापस आ रहे हैं। व्यापार करने को तैयार हो रहे हैं। सपा प्रत्याशी खड़ा करने की हिम्मत नहीं जुटा पाई। सरकार सभी को सुरक्षा देगी लेकिन कानून से खिलवाड़ की छूट किसी को नहीं दी जाएगी। पश्चिमी उत्तर प्रदेश अपराध का उद्योग बन चुका था, अब बदमाश भागे-भागे फिर रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की समस्याओं का जल्द समाधान होगा। अगले सप्ताह उन्हें मिलने के लिए बुलाया गया है। चार लाख 68 हजार निवेश से 35 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा। कांवड यात्रा को सुविधाएं दीं। इस बार यात्रा में डीजे भी बजा और शंख भी। बिना भेदभाव योजनाओं का लाभ सभी तक पहुंचाया जाएगा। भाजपा ही अपराध व दंगा मुक्त प्रदेश दे सकती है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सबकी सुरक्षा और सबका विकास भी हमारा नारा है। मुजफ्फरनगर दंगे के आरोप में जेल में बंद लोगों के मुकदमे वापसी को लेकर खाप पंचायत ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा।

लंबे समय तक दंगा के बाद कैराना पलायन और उपचुनाव के चलते कैराना इस वक्त देशभर सुर्खियों में है। कैराना से लोकसभा के सदस्य रहे हुकुम सिंह की श्रद्धांजलि सभा के उपरांत दूसरी बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज शामली आए।

कैराना सीट भाजपा के लिए जीतना बहुत ही महत्वपूर्ण माना जा रहा है। कैराना लोकसभा सीट की पांच विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है। जिसमें दो सीट गंगोह और नकुड़ सहारनपुर जनपद में आती है। तीन विधानसभा सीट शामली जनपद में लगती है। यहां पर 28 मई को मतदान व 31 मई मतगणना होनी है। देश की निगाहें कैराना के उपचुनाव पर टिकी हुई हैं, जिसे लेकर गठबंधन, भाजपा के मंत्रियों, विधायक व सांसदों ने यहां पूरी ताकत झोंक दी है। भाजपा व विपक्ष के लिए नाक का सवाल बनी यह सीट आगामी लोकसभा 2019 के चुनाव में नए समीकरण लेकर आने की संभावना जताई जा रही है।

वकीलों ने की नारेबाजी, शांत रहने की अपील

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट बेंच की स्थापना की मांग को लेकर चल रहे प्रदर्शन के तहत अधिवक्ताओं ने सीएम योगी के कार्यक्रम के दोरान धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी दी थी। पूर्वनियोजित धरना प्रदर्शन के तहत सुबह से ही वेस्ट यूपी के विभिन्न जिलों से आए अधिवक्ता हजारों की संख्या में शामली कलेक्ट्रेट पर जमा हुए। अधिवक्तागण बैनर, तख्ती और लाउडस्पीकर के साथ हाईकोर्ट बेंच के निर्माण की मांग करते हुए जनसभा स्थल पर पहुंचे। वहां पहुंचकर अधिवक्ताओं ने नारेबाजी शुरू कर दी। मंच से अधिवक्ताओं से शांत रहने की अपील की गई। इसके बाद अधिवक्ताओं के 20 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल को सीएम से मिलने की अनुमति दी गई।

योगी के बाद बागपत में मोदी गरजेंगे

शामली में आज योगी आदित्यनाथ तथा केशव प्रसाद मौर्य गरजेंगे तो वहीं 27 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पड़ौसी जिले बागपत में कार्यक्रम में शिरकत करने जा रहे हैं। इसके एक दिन बाद ही मतदान होना है। ऐसे में सीएम व पीएम की जनसभा नए गुल खिला सकती है। विपक्षी दल भी इस ओर पूरी नजरें गड़ाए है। पल-पल की खबर रखते हुए चुनावी रण में मजबूत तरीके से डटे है।

Advertisements